Simply enter your keyword and we will help you find what you need.

What are you looking for?

लोचा 20+

Nominated | Book Awards 2021 | Hindi Fiction

लोचा 20+

Full Title: लोचा 20+

Author: 􀄤वीण िसंह राजपूत
Publisher: Penguin Random House India

Award Category: Hindi Fiction
About the Book: 

लोचा 20+ इलाहाबाद 􀇒व􀆳􀇒व􀆭ालय क􀈧 छा􀄟 राजनीित क􀈧 कहानी है 􀇔जसम􀉅 रोमांस है, दांवप􀉅च ह􀉇, षडयं􀄟 है
और 􀇑हंसा भी है। यह पु􀃨तक पूरब के ऑ􀃈सफोड􀁛 कहे जाने वाले इलाहाबाद 􀇒व􀆳􀇒व􀆭ालय का एक तरह से
सिच􀄟 􀇒ववरण है 􀇔जसने देश को कई 􀄤धानमं􀄟ी, सैकड़ो नौकरशाह और समाजसेवी 􀇑दए ह􀉇। एक युवा
छा􀄟 राजनेता के मासूम 􀄤ेम और दबंग राजनीित क􀈧 यह कहानी युवाओं के िलए एक खास पठन साम􀄒ी
है 􀇔जसम􀉅 उस 􀂢े􀄟 क􀈧 बोली क􀈧 छ􀉋क और सं􀃨कृित क􀈧 स􀉉धी महक है।
सन ् 2000 के बाद के दशक म􀉅 उ􀆣र 􀄤देश क􀈧 छा􀄟 राजनीित 􀇑कस तरह स े क􀈧 जा रह􀈣 थी, उसका
आँख􀉉 देखा हाल यह 􀇑कताब 􀄤􀃨तुत करती है।


About the Author: 

Praveen Singh Rajput was a student leader during his Graduation. He is a graduate in Political Science from Allahabad University, where one half of the crowd wanted to see him become an IAS and the rest wanted him to become an MLA. But instead, he paved his own path and topped the entrance exam for Symbiosis Institute of Business Management, Bangalore to study MBA. Apart from being an author, Praveen has also founded a successful e-commerce and retail chain, Frinza.com


Excerpt: 

‘􀇔जस 􀄤कार रा􀆶ीय पा􀇑ट􀁛य􀉉 के अ􀃚य􀂢 ह􀉉 या 􀄤धानमं􀄟ी पद के क􀉇 􀇑डडेट, सभी को
आम चुनाव􀉉 म􀉅 उ􀆣र 􀄤देश आना ह􀈣 पड़ता है, ठ􀈤क वह􀈣 मह􀃗व इलाहाबाद यूिनविस􀁛ट􀈣
के यूिनयन इले􀃈शन म􀉅 इस व􀆠 ट􀈣सी हॉ􀃨टल का है। जीत सुिन􀇔􀆱त करनी है तो
ताराच􀃛􀄡 हॉ􀃨टल क􀈧 शरण लेनी ह􀈣 पड़ेगी’, म􀉇ने 􀇒व􀃨तार से समझाते हुए कहा।
‘ले􀇑कन एक 􀇑द􀃈कत है! वहाँ हमारे पास िसफ􀁛 तीन 􀇾म ह􀉇 और उनम􀉅 अिधक से
अिधक प􀃛􀄡ह लोग ह􀈣 रह सकते ह􀉇,’ 􀇒वश ने टोकते हुए कहा।
‘कोई नह􀈣ं, हम प􀃛􀄡ह लोग वहाँ िश􀃝ट हो जाते ह􀉇 और बाक􀈧 िम􀄟 जहाँ रह रहे
ह􀉇 वह􀈣ं रह􀉅’।


Write a Review

Review लोचा 20+.

Your email address will not be published.