Simply enter your keyword and we will help you find what you need.

What are you looking for?

ख़ाली तमंच़ा तथ़ा अन्य कह़ानिय़ां

Longlisted | Book Awards 2021 | Hindi Fiction

ख़ाली तमंच़ा तथ़ा अन्य कह़ानिय़ां

Full Title: ख़ाली तमंच़ा तथ़ा अन्य कह़ानिय़ां

Author: भूममक़ा द्वििेदी अश्क
Publisher: Penguin Random House India

Award Category: Hindi Fiction
About the Book: 

इस कहानी संग्रह में कुल ग्यारह कहाननयां हैं, इनके नाम भले ही अलग-अलग हों, लेककन उनके पात्रों का संघर्त एक िैसा ही है।
ख़ाली र्ंमचा लसफत गोली के बग़ैर एक िेसी औज़ार का ही नाम नहीं है, बजल्क र्माम बेलसक सुख-सुववधाओं, जज़म्मेिाररयों, सुववधाओं से वंचचर् एक विूि, एक बचपन, एक र्क़लीफ़ों से लैस शर् प्रनर्शर् मासूम िीवन की स्पष्ट पररभार्ा भी है।
एक कम उम्र लड़की के अलग-अलग र्रह के कई सारे संघर्त, ववद्रोह, र्ेवर, रवैयों को भी ववववधर्ा से भरी इन मौिूिा कहाननयों में पाठकगण िेखर्े हैं।
'वेिना', 'हीरामन चौधरी', 'सार्वां आसमान' या 'िांव' आधुननक भीर्ण महत्वाकांक्षी युग में रािनीनर्क, सांस्कृनर्क, मेडिकल और प्रशासननक िगर्् की
कुदटलर्ाओं, ख़ालमयों, कठोरर्ाओं और अमानवीयर्ाओं को आपके समक्ष रखने का बहुर् पररश्रमपूणत प्रयास है।


About the Author: 

Bhoomika Dwiwedi Ashk a profound scholar of English and Urdu literature, is a well-known and admired name in Hindi. The daughter in law role of Upendranath Ashk, one of the legendry signatures of Urdu and Hindi literature, has been taking the composition oa Ashk family seriously forward since being in Delhi almost a decade. She has also received many rewards.


Excerpt: 

“गोली! गोली का क्या करोगी? हमारी शर्त र्ो केवल र्मंचे की लगी थी, जिसे मैं हार गया था। उस वक़्र् गोली की बार् र्ो र्ुमने नहीं की थी।”
जिया ने गुस्से में र्मर्मार्े हुए, र्मंचा रवव के सामने फेंक दिया। वो क़रीब-क़रीब चीखर्े हुए बोली, “बबना स्याही की इस पेन की मुझे कोई ज़रूरर् नहीं, ले िाइये इसे!”
रवव ने बहुर् हल्की सी मुस्कुराहट के साथ र्मंचा उठा ललया और घर से बाहर ननकल गया।


Write a Review

Review ख़ाली तमंच़ा तथ़ा अन्य कह़ानिय़ां.

Your email address will not be published.