Simply enter your keyword and we will help you find what you need.

What are you looking for?

  /  सोशल मीनडया और हन्दी

सोशल मीनडया और हन्दी

VoW 2020 | November 21 – 3:45 pm to 4:45 pm | Savoy State Room | Hindi Sahitya

सोशल मीनडया और हन्दी

डॉ॰ बालेन्दु दाधीच, श्री नवजय कु मार मल्होत्रा, शोभा अक्षर, सुधा ओम ढींर्रा संजय अनभज्ञान

सोशल मीनडया और हन्दी

Introduction

Social Media and Hindi

Balendu Dadhich, Vijay Kumar Malhotra, Shobha Akshar, Sudha Om Dhingra and Sanjay Abhigyan

Report

21.11.2020
Session 36, HI-5

सोशल मीडिया और हिंदी

1. डॉक्टर बालेंदु दाधीच – सत्रसंचालक
2. शोभा अक्षर – पत्रकार, लेखिका
3. संजय अभिज्ञान – अमरउजालासंपादक, उत्तराखंड
4. विजय कुमार मल्होत्रा – भारतीयरेलवेकार्यरत, भाषाएवंतकनीकविकासकर्ता

सोशलमीडियादोधारी, हिंदीसबपरभारी

अंतर्राष्ट्रीय साहित्य एवं कला महोत्सव, वैलीऑफवर्ड्सकेदूसरेदिवसके “सोशल मीडियाऔरहिंदी” नामक सत्र की शुरुआत संचालक डॉ.बालेंदुदाधीचनेअतिथियोंकास्वागतकरकेकिया। बालेंदुजीनेसत्रकीशुरुआतविजयमल्होत्राजीकापरिचयकरातेहुएकिया।उन्होंनेहिंदीतकनीकयात्राकाउल्लेखकरतेहुएबतायाकिरोमनलिपिअगरनहींहोतीतोयूनिकोडनहींहोता।भाषाकेक्षेत्रमेंसबसेबड़ीक्रांतितबहुईजबहैदराबादमेंसन्1985 मेंलिपिप्रोसेसरबनायागया।वर्षोंपहलेराजा-महाराजाओं द्वाराप्रयोगमेंलाईब्राम्हीलिपिसेही 10 मुख्यलिपियोंकाविकासहुआहै।इनसबकेआनेकेबादकंप्यूटरकाउपयोगऔरयूनिकोडकोविश्वभरमेंलोगोंनेस्वीकारा।हमारेयहांअंग्रेजीभाषाकाउपयोगकंप्यूटरमेंलिखनेपरअनेकविकल्पोंकेसाथऑटोसुधारकरकेकरतेहैं। हिंदीभाषाओंमेंइनतकनिकोंकाउपयोगभीकियाजासकताहै, इसकीजानकारीअबतकशायदबहुतकमलोगोंकोहै।इसकामुख्यकारणयहहैकिहिंदीलेखनीमुख्यरूपसेकेवलरिपोर्टिंगकेलिएहीकीजातीहै।यूनिकोडकेआनेसेलोगइसकाव्यापकरूपसेइस्तेमाल कररहेहैं।पहलेलोगशुरूमेंकेवलअंग्रेजीभाषामेंहीअपनेसंदेशकाआदान-प्रदानकरतेथेलेकिनअबकरीब 94% लोगसोशलमीडियाकाउपयोगअपनेभारतीयभाषाओंमेंकरतेहैं। आजकलकिसीकेपासइतनावक्तनहींरहाहैकिवहलंबे-चौड़ेअखबारोंकोपढ़ें।आजसबट्विटरखोलकरमुख्यजानकारीअपनी-अपनीभाषाओंमेंप्राप्तकरलेतेहैं।केवलअंग्रेजीमेंहीनहींबल्किआजयूनिकोडमेंभीअनेकअलग-अलगविशेषताएंदेखीजासकतीहैं।आजसोशलमीडियामेंहिंदीकेआनेकामुख्यश्रेययूनिकोडकोहीदियाजासकताहै।यूनिकोडकेनहोनेपरसोशलमीडियासमृद्धनहोपाता।सोशलमीडियाप्लेटफॉर्मनेभीस्थानीकरणकरअपनेविषयकोभारतीयभाषाओंकेअनुकूलबनायाहै।

आगेबढ़तेहुएदाधीचनेशोभाअक्षरसेसवालकिए।उन्होंनेसोशलमीडियाकोदोधारीतलवारबताया।उन्होंनेयहभीकहाकिसोशलमीडियाहमारीभाषाओंकोअनेकतरहोंसेप्रभावितकररहाहै।एकतरफयहहैकिफेसबुकऔरट्विटरनेभारतीयहिंदीभाषाओंकोलेकरसोशलमीडियाजगतमेंक्रांतिलाईहै।कमशब्दोंमेंअच्छाविषयप्रस्तुतकरनासोशलमीडियानेहमेंसिखायाहै।अपनीभाषाशैलीकेलिएराजनैतिकविषयोंपरकईबारप्रतियोगिताभीहोतीहै। 2003 मेंपहलीवेबसाइटहिंदीमेंबनीलेकिनवहीं 2011 तकहिंदी भाषाओंमेंकईब्लॉग, आर्टिकल्सलाखोंकीसंख्यामेंदेखेजारहेहैं।आजसोशलमीडियापरसबसेज़्यादा पोस्टकरनेवालीभाषाहिंदीहै।उन्होंनेसाथमेंयहभीकहाकिसोशलमीडियापरकईअपमानजनकपोस्टशेयरकिएजातेहैंजोकिसहीउद्देश्यकोपरिपूर्णनहींकरतेहैं।उन्होंनेयहभीसुझावदेतेहुएकहाकिसोशलमीडियापरकुछनियमऔरकानूनलागूहोनेचाहिए।बोलनेकीस्वतंत्रताकेनामपरइसेनजरअंदाजनहींकियाजासकता।आजयुवावर्गकुछनकुछदेवनागरीलिपिसे सीख रहाहै।आजहिंदीकीशक्तिपूरेडिजिटलप्लेटफार्मपरदिखरहीहै।हिंदीभाषाअपनोंकोजोड़नेकाकामभीकररहीहै।

सत्र कोआगेबढ़ातेहुएअगलीश्रृंखलामेंसंजयअभिज्ञाननेबतायाकि 2000 तकयहमानाजाताथाकिइंटरनेटकीदुनियाकोसिर्फ़ युवाहीसमझसकतेहैं।उसवक्तमहिलाओंकीस्थितिउतनीअच्छीनहींथीजितनीहोनीचाहिएथी।ऐसामानाजारहाथाकियहकभीबदलेगानहीं।लेकिनआज 20 सालोंमेंबहुतपरिवर्तनदिखरहाहै।आजबच्चोंसेलेकरदादा-दादीतकसभीकेहाथमें स्मार्टफोनहै।आजमहानगरोंकाएकाधिकारखत्महोगयाहै। 40% महिलाएंइंटरनेटयूजकररहीहैं।हिंदीभाषाका ग्रोथरेट 14 फ़ीसदीहैवहींअंग्रेजीभाषाका 4% है।आजसोशलमीडियाकेसमंदरमेंमुख्यविषयकमऔरट्रैफिकपानेवालेविषयज्यादादिखतेहैं।सभीकोउसवक्तकाइंतजारहै, जबडिजिटलसोशलमीडियापरअच्छीचीजेंसामनेआएंगी।

अन्ततःसत्रसंचालकडॉ.दाधीचनेसबकाधन्यवादकरतेहुएबतायाकिसोशलमीडियाप्लेटफॉर्म्सप्रतिभाओंकोसामनेलारहाहैऔरदुनियाभरमेंउसेपहुंचाभीरहाहै।कलाकारअपनीप्रतिभाओंकाआर्थिकलाभभीउठारहेहैं।सोशलमीडियानेहिंदीकोसशक्तकियाहैऔरहमनेसोशलमीडियाकोसशक्तकियाहै।

– कशिशनैनाआर्या