Simply enter your keyword and we will help you find what you need.

What are you looking for?

  /  कनवता तेरे दकतने रूप

कनवता तेरे दकतने रूप

VoW 2020 | November 22 – 1:00 pm to 2:00 pm | Savoy Writers' Bar | Hindi Sahitya, Poetry

कनवता तेरे दकतने रूप

ममता दकरण, अम्बर खरबन्दा, ओमननश्चल,लक्ष्मी शंकर बाजपेयी

कनवता तेरे दकतने रूप

Introduction

Kavita Tere Kitnay Roop

Mamta Kiran, Amber Kharbanda, Om Nishchal, LS Bajpai

Report

22 Nov 2020
Session-53 HI-9

“कविता तेरे कितने रूप”

वैली ऑफ वर्ड्स कार्यक्रम के दौरान “कविता तेरे कितने रूप” सत्र का हुआ आयोजन

मसूरी में तीन दिवसीय ऑनलाइन अंतरराष्ट्रीय कला एवं साहित्य उत्सव : वैली ऑफ वर्ड्स का आयोजन 20 से 22 नवंबर तक किया जा रहा है | इस कार्यक्रम में कुल 65 सेशन्स को जोड़ा गया है | जिनमें से एक सेशन “कविता तेरे कितने रूप” का आयोजन 22 नवंबर को दोपहर 1:00 से 2:00 बजे के बीच किया गया |

इसका संचालन एयर आकाशवाणी से अवकाशित प्रसिद्ध कवि लक्ष्मी शंकर वाजपेई कर रहे थे | जिसमें कविता के लगभग 25 रूपों पर बातचीत की गई | इस सेशन में संचालक लक्ष्मी शंकर वाजपेई समेत तीन अन्य कविता के विद्वत जन ममता किरण, अंबर खरबंदा एवं ओम निश्चल शामिल थे | सभी ने कविता की लगभग 25 विधाएं बताई | बतौर उदाहरण भी पेश किया | जिसमें अता, मुक्तक, रुबाई, दोहा, माहिया, नज्म, छंद मुक्त कविता, आइकू, गीत, नवगीत, प्रगीत, खमसा, मसद्दस, जनक छंद, सवैया, घनाक्षरी छंद, शेर, गजल, हजल, कहमुकरे, पैरोडी, रदीफ आदि इत्यादि विधाओं पर बातचीत की और उदाहरणों से इसके स्वरूप को समझाया |

कार्यक्रम के अंत में ऑनलाइन जुड़े दर्शकों के सवालों का निदान भी किया गया | साहित्य व कविता जगत में रुचि रखने वालों के लिए या सेशन बहुत ही ज्ञानवर्धक रहा साथ ही साथ कई नई जानकारियों से मुखातिब होने का मौका मिला |