Simply enter your keyword and we will help you find what you need.

What are you looking for?

101 रोचक लघुकथाएँ

 

Longlisted | Book Awards 2022 | Hindi Anuvaad

101 रोचक लघुकथाएँ (बरजासता)

Full Title: 101 रोचक लघुकथाएँ

Author: डा अशफाक़ अहमद
Publisher: Yavnika Publications
Translator: सेवक नैयर
Original Language: उर्दू

Award Category: Hindi Anuvaad
About the Book: 

'101 रोचक लघुकथाएँ', नागपुर के डॉ अशफाक अहमद द्वारा मूल रूप से उर्दू में लिखी गई एक सौ एक बेहद रोचक और प्रेरक लघु- कथाओं का संग्रह है। ये लघु-कथाएँ प्रेम, घृणा, लालच, द्वेष, ईर्ष्या, दया, साझाकरण आदि की सार्वभौमिक मानवीय भावनाओं से संबंधित हैं। इन कहानियों में जीवन के इतने रंग, इतनी छटाएँ मौजूद हैं, लगता है कि आप कोई उपन्यास पढ़ रहे हैं । आसान भाषा में लिखी ये कहानियाँ कई बार इशारों में अपनी बात रखती हैं तो कई बार व्यंग्यात्मक तरीके से तमाम विषमताओं पर सीधे प्रहार करती हैं । मध्यवर्ग की मानसिकता, चुनौतियों और संघर्ष को उकेरती ये कथाएँ हमारे समाज का आईना हैं। कुछ कहानियाँ हाल ही में कोविड -19 द्वारा बरपाए गए कहर की दुखद दास्तान भी कहती हैं ।


About the Author: 

डॉ अशफाक अहमद एक प्रसिद्ध उर्दू लेखक हैं जो बीस से अधिक पुस्तकें प्रकाशित कर चुके हैं। उन्होंने कई प्रतिष्ठित पुरस्कार भी जीते हैं जैसे कि महाराष्ट्र उर्दू अकादमी {1985 और 1998}, उत्तर प्रदेश उर्दू अकादमी {1985}, अखिल भारतीय मीर अकादमी {1993} और अन्य कई पुरस्कार ।

सेवक नैयर एक प्रसिद्ध कवि, कहानीकार, नाटककार और सामाजिक कार्यकर्ता हैं। अंग्रेजी में व्याख्याता के रूप में अपना करियर शुरू करते हुए, वह जल्द ही आईएएस की एक संबद्ध सेवा में शामिल हुए और भारत में कई स्थानों पर सेवा की। उन्होंने एक दर्जन से अधिक पुस्तकें लिखी हैं और महाराष्ट्र राज्य साहित्य अकादमी पुरस्कार - 2019 और 2021 में अनुवाद के लिए सोन इंदर पुरस्कार प्राप्त किया है ।


Excerpt: 

वे रास्ते
मैं उसी रास्ते पर चल रहा था जिस पर तुम हमेशा मुझे मिला करती थी । लेकिन इस बार जब तुम मुझे वहाँ नहीं मिली तो मैं बहुत व्याकुल हो उठा और हार कर उस रास्ते पर निकल पड़ा जिसे न तो कभी तुमने पसंद किया था, न मैंने ।
लेकिन उसी रास्ते पर तुम मुझे मिल गई ।


Write a Review

Review 101 रोचक लघुकथाएँ.

Your email address will not be published.